उत्तराखंड के लोकपर्व हरेला पर नई कचहरी स्थित प्रांगण एवं गंग नहर किनारे स्थित लक्ष्मी बाई पार्क में आयोजित वृक्षारोपण कार्यक्रम में पहुँचे मेयर गौरव गोयल

(दिलशाद खान)

(न्यूज़ रुड़की)। मेयर गौरव गोयल ने कहा कि उत्तराखंड आदिकाल से अपनी परंपराओं तथा रीति-रिवाजों के द्वारा प्रकृति प्रेम और प्रकृति के प्रति अपनी जिम्मेदारी व प्रकृति की रक्षा को दर्शाता आया है।

 

उत्तराखंड के लोकपर्व हरेला पर नई कचहरी स्थित प्रांगण एवं गंग नहर किनारे स्थित लक्ष्मी बाई पार्क में आयोजित वृक्षारोपण कार्यक्रम में मेयर गौरव गोयल ने कहा कि उत्तराखंड को प्रदेश में ही नहीं,बल्कि पूरे देश में देवभूमि और प्रकृति का प्रदेश माना जाता है।यहां की प्रकृति एवं प्रकृति की रक्षा के लिए आदिकाल से ही अनेक परंपराओं का निर्वहन किया जाता रहा है।उन्होंने कहा कि यह त्यौहार प्रकृति प्रेम के साथ-साथ कृषि विज्ञान को भी समर्पित है,इसलिए अधिक से अधिक वृक्षारोपण कर हमें ऑक्सीजन की प्राप्ति के साथ ही शुद्ध वातावरण को बनाने में भी अपना सहयोग देना चाहिए,हमें चाहिए कि प्रत्येक व्यक्ति एक पौधा अवश्य लगाएं तथा उसके संरक्षण की जिम्मेदारी वह स्वयं ले।नगर आयुक्त नूपुर वर्मा ने हरेला पर्व की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि पेड़-पौधे हमारे जीवन के अभिन्न अंग हैं।संस्था की संरक्षक प्रोफेसर स्वर्ण लता मिश्रा,भाजपा मंडल अध्यक्ष अभिषेक चंद्रा,पंडित गोविंद बल्लभ पंत पर्यावरण समिति के अध्यक्ष प्रभाकर पंत एडवोकेट,शहीद भगत सिंह ब्रिगेड के सतनाम सिंह एवं नवोदय सहयोग संगठन के राहुल अरोड़ा,संजय त्यागी भाजपा मंडल महामंत्री,राजन गोयल,आकाश गुप्ता,कृष्ण चंद अरोड़ा,गौरव अरोड़ा,मान्या अरोड़ा,गौरव आजाद,बुध्दविंदर सिंह राणा,गौरव मेंहदीरत्ता,सुशील पुंडीर आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

%d bloggers like this: