समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव समीर आलम ने कहा तीन काले कानून वापस लेने पर भाजपा का झूठ हुआ बेनकाब किसानों की जीत

(दिलशाद खान)

(न्यूज़ रुड़कीं) समीर आलम राष्ट्रीय सचिव समाजवादी पार्टी ने कहा कि आज देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा तीनों कृषि काले कानून जो वापस लिये गये है इससे यह दर्शाता है कि कल तक जिन किसानों को भाजपा और उसके अंधभक्त खालिस्तानी परजीवी नकली किसान बोल रहे थे आज जब तीनों कृषि काले कानून देश के प्रधानमंत्री ने माफी मांगते हुए वापस किए तो एक बात तो सिद्ध हो जाती है कि भारतीय जनता पार्टी उसके कार्यकर्ता नेता एवं देश के प्रधानमंत्री लगातार झूठ बोल रहे थे कि यह बिल किसान हितेषी हैं आज तीनों बिल वापसी कर भारतीय जनता पार्टी ने यह साबित कर दिया है की देश का अन्नदाता सच्चा था और देश के प्रधानमंत्री पूरी भारतीय जनता पार्टी झूठी निकली । कल तक जिनको परजीवी खालिस्तानी,आतंकवादी और नकली किसान बता रहे थे आज उन्ही किसानों के आगे केंद्र सरकार को झुकना पड़ा और उनकी बात को मानना पड़ा अपने अहंकार को कायम रखने के लिए नरेंद्र प्रधानमंत्री मोदी किसी को भी झूठा साबित कर सकते हैं ।वही समीर आलम ने बोलते हुए कहा कि यह तीनों कृषि काले कानून उन किसान शहीदों को एक सच्ची श्रद्धांजलि है जिन्होंने किसान आंदोलन में अपने प्राण न्योछावर कर दिए यह जीत देश के किसान की जीत है और अहंकार की हार है । यह जीत देश के जवान की है यह जीत देश के अन्नदाता की है यह जीत हर उस भारतवर्ष रहने वाले व्यक्ति की है जिसने किसान आंदोलन में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया जिस तरीके से भी वह किसान संघर्ष में किसान आंदोलन में शामिल हो सका यह हर उस व्यक्ति की जीत है और यह हार है नरेंद्र मोदी के अहंकार की यह हार पूरी भारतीय जनता पार्टी की यह हार देश को लूट खाने वाले उद्योगपतियों की यह हार है । अंबानी और टाटा की जो ईस्ट इंडिया कंपनी की तरह देश को गुलाम बनाना चाहते थे आगे सभी दलों ने बोलते हुए कहा कि हमें अभी भी भारतीय जनता पार्टी और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पूरा विश्वास नहीं है क्योंकि ना जाने उन्होंने कितने वादे जनता से किए हुए तोड़े हैं। इस मौके पर निषाद अली उदयवीर रोबिन सरवर अली महबूब अली नदीम आदि सैकड़ों लोग उपस्थित रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

%d bloggers like this: