February 27, 2024

रुड़की के सलमान कॉलोनी के रहने वाले बॉलीवुड फ़िल्म राइटर शोएब ज़ुल्फ़ी नज़ीर को फिल्मफेअर 2024 के लिए किया गया नामांकित

(KNEWS18)

(दिलशाद खान)रुड़की के सलमान कॉलोनी के रहने वाले बॉलीवुड फ़िल्म राइटर शोएब ज़ुल्फ़ी नज़ीर को फिल्मफेअर 2024 के लिए नामांकित किया गया है। शोएब को ये नामांकन पिछले वर्ष रिलीज़ हुई फ़िल्म ‘थ्री ऑफ़ अस’ के लिए मिला है। फ़िल्म में उन्होंने जाने माने फ़िल्म लेखक और गीतकार वरुण ग्रोवर के साथ मिलकर डाईलॉग लिखे हैं। शोएब और वरुण को बेस्ट डाईलॉग के लिए अब्बास टायरवाला (पठान), अमित राए (ओ माई गॉड २)। इशिता मोइत्रा (रॉकी और रानी की प्रेम कहानी), सुमित अरोड़ा (जवान) और विधु विनोद चोपड़ा (12वीं फेल) जैसे दिग्गज नामों के साथ नामांकित किया गया है।

शोएब रुड़की में एक बहुत साधारण परिवार में पले-बढ़े हैं और उनकी स्कूली शिक्षा आई॰ आई॰ टी॰ कैम्पस में स्थित आदर्श बाल निकेतन स्कूल से हुई है। इसके बाद कॉलेज की पढ़ाई के लिए वो दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी गए और फिर वहाँ से साल 2016 में फ़िल्मों में बतौर लेखक अपनी क़िस्मत आज़माने मायानगरी का रुख़ किया। लगभग 8 साल के लम्बे स्ट्रगल के बाद बतौर डाईलॉग राइटर उनकी पहली फ़िल्म बीते वर्ष 3 नवम्बर को सिनमाघरों में रिलीज़ हुई और अपनी पहली ही फ़िल्म से उन्होंने ये ख़िताब हासिल कर लिया।

शोएब अपनी इस सफलता का पूरा पूरा श्रेय अपने परिवार को देते हैं, जिन्होंने उनके सपनों को सराहा और कदम कदम पर उनका साथ दिया। पिता ज़ुल्फ़िकार अली एक दूरदर्शी इंसान हैं जिन्होंने शोएब की प्रतिभा को पहचानकर उन्हें हमेशा बढ़ावा दिया। माँ अहमदी एक बेहद निपुण महिला थी और कला प्रेमी थी। स्वाभाविक था कि बचपन से ही शोएब की भी कला की तरफ़ रूचि बढ़ती गयी। मुंबई में जब जब कदम थकने लगे, तब तब भाई बहनों ने उनका होंसला बढ़ाया। स्कूल-कॉलेज के दोस्तों और गुरुओं का भी उनके सफ़र में एक बड़ा योगदान रहा।

फिल्मफेअर अवार्डस की शुरुआत 1959 में हुई थी। पहली बार बेस्ट डाईलॉग का पुरस्कार रजिंदर सिंह बेदी को फ़िल्म मधुमती के लिए मिला था। पिछले साल का बेस्ट डाइयलोग का पुरस्कार प्रकाश कपाड़िया और उत्कर्षिणी वशिष्ठ को फ़िल्म गंगुबाई काठियावाड़ी के लिए मिला है। इस साल का फिल्मफेअर 28 जनवरी को गुजरात की GIFT सिटी में आयोजित होगा। देखना ये है की उस दिन रुड़की वासियों के लिए शोएब ट्रोफ़ी जीत पाते हैं या नही।

फ़िल्म थ्री ऑफ़ अस को बेस्ट डाईलॉग के साथ साथ अन्य 7 श्रेणियों में और नामांकन मिला है- जिसमें बेस्ट फ़िल्म (क्रिटिक), बेस्ट ऐक्टर (क्रिटिक), बेस्ट ऐक्ट्रेस (क्रिटिक), बेस्ट छायांकन, बेस्ट पार्श्व संगीत, बेस्ट पटकथा, बेस्ट साउंड डिज़ाइन शामिल हैं। फ़िल्म के निर्माता संजय राऊत्रे, सरिता पाटिल, और बनी वास हैं। निर्देशन और छायांकन अविनाश अरुण का है। फ़िल्म netflix पर उपलब्ध है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रमुख खबरे

error: Content is protected !!